समय की माँग युवाओं के हाँथ में हो कमान

youth

समय की माँग युवाओं के हाँथ में हो कमान

समस्त ब्रह्मांड में यह स्पष्ट है कि युवाओं की शक्ति हीं वह शक्ति है जो किसी भी कार्य में निर्णायक भूमिका अदा करती है। सौभाग्य है कि हम उस देश के निवासी हैं जिसमें सबसे अधिक युवाओं की संख्या है। समय आ गया है कि अब युवाओं का सशक्तिकरण जोर -शोर से शुरू होना चाहिए। चाहे किसी भी स्तर की बात की जाए, राष्ट्र की, समाज की अथवा परिवार की, युवा हीं शक्ति एवं सामर्थ्य के पर्याय होते हैं। समय आ गया है जब युवाओं की प्रतिभा को पहचान कर उनका समुचित विकास किया जाए ताकि सही मायने में राष्ट्र का विकास हो सके।

सटीक विश्लेशण:

समय आ गया है जब सर्वप्रथम युवाओं की क्षमता को परखा जाए तथा उनका सर्वांगीण विकास किया जाए। भारत का विकास तब तक संभव नहीं है जब तक युवाओं का विकास नहीं हो।

Comments

comments