मोहम्मद शहाबुद्दीन को बेल मिलते हीं बिहार का सुशासन गया जेल

Political news

मोहम्मद शहाबुद्दीन को बेल मिलते हीं बिहार का सुशासन गया जेल

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने जो सुशासन का रट लगाए रखा था वो सुशासन दुर्दांत अपराधी की छवि रखने वाले शहाबुद्दीन के जेल से निकलते हीं उसी जेल में चला गया। बिहार के मुख्यमंत्री की सुरक्षा को और अत्याधुनिक बनाया गया लेकिन सिवान में दहशत की जिंदगी जीनेवाले परिवारों की सुरक्षा शायद राम भरोसे छोड़ दिया गया है। शहाबुद्दीन ने जेल से निकलते हीं मुख्यमंत्री को परिस्थितियों का मुख्यमंत्री बताया है, लालू यादव भी इस बात पर चुप हैं। आपको बताते चलूँ की शहाबुद्दीन राष्ट्रीय जनता दल के केंद्रीय कार्यकारिणी के सदस्य भी हैं। सिवान में कुछ दिनों पूर्व जिस पत्रकार राजदेव यादव की हत्या हो गयी थी उसके पिता ने अपने परिवार वालों की सुरक्षा को ले कर अपनी चिंता भी जाहिर कर दी है।

सटीक विश्लेशण:

कुल मिलाकर बिहार में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है, परदे के पीछे सरकार का मुखिया कोई और है। शहाबुद्दीन का जेल से बाहर आना और किसी अभिनेता के जैसे उसका प्रदेश के प्रतिनिधियों द्वारा स्वागत करना, राजनीति के अपराधीकरण को दर्शाता है तथा यह बिहार के छवि को कलंकित तथा अपराधियों के हौसले को बुलंद करेगा।

Comments

comments